ताजा खबरें

फाइनेंस का महत्त्व

फाइनेंस का महत्त्व
Freepik

Term Insurance: 28 की उम्र और नहीं लिया टर्म प्लान, यहां जानें इसके फायदे और महत्व, एक्सपर्ट ने दिए 2 ऑप्शन

Term Insurance: अगर फाइनेंशियल प्लानिंग (Financial Planning) की तैयारी कर रहे हैं तो इसमें टर्म इंश्योरेंस प्लान को भी शामिल करें. टर्म इंश्योरेंस प्लान आपकी अनुपस्थिति में आपके परिवार को एक फाइनेंशियल सिक्योरिटी देता है. ऐसे में जितना जल्दी आप टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदेंगे, उतना ही आपके लिए बेहतर होगा. वैसे तो टर्म इंश्योरेंस प्लान के लिए फाइनेंशियल एक्सपर्ट की ओर से उम्र नहीं तय की गई है, लेकिन सलाह यही दी जाती है कि जितनी जल्दी आप टर्म इंश्योरेंस प्लान (Term Insurance Plan) खरीदते हैं, उतना ही ज्यादा लाभ आपको मिलेगा. जितनी जल्दी उम्र में आप टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदेंगे, उतना ही प्रीमियम कम होगा और वो महंगा कम होगा.

टर्म इंश्योरेंस प्लान क्यों है जरूरी?

एक टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी (Term Life Insurance Policy) आपकी फैमिली को फाइनेंशियल सिक्‍योरिटी देती है. किसी भी कारणवश आपके न रहने पर टर्म प्‍लान आपकी आर्थिक जिम्‍मेदारियों को पूरा करने में सहायक होता है. एक्‍सपर्ट मानते हैं कि टर्म फाइनेंस का महत्त्व प्‍लान नौकरी की शुरुआत में ही या कम उम्र में लेना बेहतर होता है. 28-30 की कम उम्र में टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्लान खरीदने के फाइनेंस का महत्त्व अपने कई बेनेफिट हैं.

पर्सनल फाइनेंस एक्सपर्ट पंकज मठपाल का भी यही कहना है कि परिवार का भरणपोषण करने वाले किसी शख्स की आकस्मिक मृत्यु के बाद परिवार को हुए फाइनेंशियल नुकसान की भरपाई के लिए टर्म इंश्योरेंस प्लान लेना जरूरी है. पर्सनल फाइनेंस एक्सपर्ट पंकज मठपाल ने टर्म प्लान खरीदने के लिए 2 ऑप्शन को चुना है. इसमें ICICI Prudential iProtect Smart और HDFC Click2Protect Life शामिल है.

ICICI Prudential iProtect Smart प्लान

पर्सनल फाइनेंस एक्सपर्ट पंकज मठपाल ने टर्म प्लान खरीदने के लिए ICICI Prudential iProtect Smart को चुना है. इसके स्पेसिफिकेशन की बात करें तो ये 1 दिन में क्लेम फाइनेंस का महत्त्व सेटलमेंट की गारंटी देता है. इसके अलावा इस टर्म प्लान के जरिए आप 34 क्रिटिकल इलनेस जैसे हार्ट अटैक, कैंसर जैसी बीमारियों का भी कवरेज ले सकते हैं.

इसके अलावा इस प्लान के आप 2 करोड़ रुपए का एक्सिडेंटल डेथ कवर भी ले सकते हैं. इस टर्म इंश्योरेंस प्लान के तहत पॉलिसी के पूरे टेन्योर के लिए एक समान प्रीमियम ही रहता है. इस प्लान के तहत आप 99 साल की उम्र के लिए भी कवरेज बढ़ा सकते हैं.

HDFC Click2Protect Life प्लान

कंपनी की वेबसाइट के मुताबिक, ये पॉलिसी/प्लान एक नॉन लिंक्ड, नॉन पार्टिसिपेटिंग, इंडिविजुअल, प्योर रिस्क प्रीमियम और सेविंग्स लाइफ इंश्योरेंस प्लान की सुविधा मुहैया कराता है. इस प्लान के तहत कस्टमर को 98.66 फीसदी का क्लेम सेटलमेंट रेश्यो का एश्योरेंस मिलता है. एक्सिडेंटल डेथ पर अतिरिक्त सम अश्योर्ड मिलता है.

इसके अलावा ये प्लान रिटर्न ऑफ प्रीमियम ऑप्शन के साथ सर्वाइवल पर पूरा प्रीमियम लौटा देता है. टर्म प्लान पर टैक्स बेनेफिट तो मिलता ही है. इसके अलावा महिलाओं और नॉन टैबेको यूजर्स के लिए स्पेशल प्रीमियम रेट्स उपलब्ध हैं.

MSME Day 2022: एमएसएमई क्या है? इसकी नई परिभाषा क्या है?

MSME Day 2022: एमएसएमई भारतीय इकोनॉमी की रीढ़ हैं. करीब 12 करोड़ लोगों की आजीविका इस क्षेत्र पर निर्भर करती है. ये उद्यम देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में लगभग 29 फीसदी का योगदान करते हैं.

msme new

एमएसएमई भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं. करीब 12 करोड़ लोगों की आजीविका इस क्षेत्र पर निर्भर करती है. ये उद्यम देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में लगभग 29 फीसदी का योगदान करते हैं.

एमएसएमई की नई परिभाषा
सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम को संक्षिप्त में MSME कहा जाता है. एमएसएमई दो प्रकार के होते हैं. मैनुफैक्चरिंग उद्यम यानी उत्पादन करने वाली इकाई. दूसरा है सर्विस एमएसएमई इकाई. यह मुख्य रुप से सेवा देने का काम करती हैं. हाल ही में सरकार ने एमएसएमई की परिभाषा बदली है. नए बदलाव के निम्न श्रेणी के उद्यम सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग में आएंगे.

सूक्ष्म उद्योग: सूक्ष्म उद्योग के अंतर्गत रखा अब वह उद्यम आते हैं जिनमें एक करोड़ रुपये का निवेश (मशीनरी वगैरह में) और टर्नओवर 5 करोड़ तक हो. यहां निवेश से मतलब यह है कि कंपनी ने मशीनरी वगैरह में कितना निवेश किया है. यह मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर दोनों क्षेत्र के उद्यमों पर लागू होता है.

लघु उद्योग: फाइनेंस का महत्त्व उन उद्योगों को लघु उद्योग की श्रेणी में रखते है जिन उद्योगों में निवेश 10 करोड़ और टर्नओवर 50 करोड़ रुपये तक है. यह निवेश और टर्नओवर की सीमा मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस दोनों सेक्टर में लागू होती है.

मध्यम उद्योग: मैनुफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर के ऐसे उद्योग जिनमें 50 करोड़ का निवेश और 250 करोड़ टर्नओवर है वह मध्मम उद्योग में आएंगे . इससे पहले वित्त मंत्री ने आत्मनिर्भर पैकेज का ऐलान करते हुए एमएसएमई की परिभाषा बदली थी. वित्त मंत्री ने 20 करोड़ रुपये का निवेश और 100 करोड़ रुपये का टर्नओवर वाले उद्यमों को मध्यम उद्योग में रखा था. लेकिन उद्यमी सरकार के इस नए बदलाव से भी खुश नहीं था. इसके बाद 1 जून 2020 को हुई कैबिनेट बैठक में सरकार ने उद्यमियों की मांग फाइनेंस का महत्त्व फाइनेंस का महत्त्व को पूरा करते हुए यह बदलाव किया है. अब मैनुफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर के ऐसे उद्योग जिनमें 50 करोड़ का निवेश (मशीन और यूनिट लगाने फाइनेंस का महत्त्व का खर्च आदि) और 250 करोड़ टर्नओवर है वह मध्मम उद्योग में आएंगे .

हिन्दी में शेयर बाजार और पर्सनल फाइनेंस पर नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. पेज लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें

आ रहा है नया बैंक, RBI ने सेंट्रम और भारतपे के कंसोर्टियम को फाइनेंस का महत्त्व स्मॉल फाइनेंस बैंक का दिया लाइसेंस

नए स्मॉल फाइनेंस बैंक का नाम यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक (Unity Small Finance Bank) होगा. बयान में कहा गया है कि सेंट्रम के एमएसएमई और माइक्रो फाइनेंस व्यवसायों को यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक में मिला दिया जाएगा.

आ रहा है नया बैंक, RBI ने सेंट्रम और भारतपे के कंसोर्टियम को स्मॉल फाइनेंस बैंक का दिया लाइसेंस

TV9 Bharatvarsh | Edited By: संजीत कुमार

Updated on: Oct 12, 2021 | 8:32 PM

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मंगलवार को सेंट्रल फाइेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (Centrum Financial Services Limited) और भारतपे (BharatPe) के कंसोर्टियम को एक स्मॉल फाइनेंस बैंक (SFB) लाइसेंस जारी किया. सेंट्रम ने एक नियामक फाइलिंग में कहा, लगभग 6 वर्षों के अंतराल के बाद एक नया बैंक लाइसेंस जारी किया गया है. सेंट्रम और भारतपे की क्षमताओं में दिखाए गए विश्वास के लिए हम आरबीआई को धन्यवाद देते हैं.

नए स्मॉल फाइनेंस बैंक का नाम यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक(Unity Small Finance Bank) होगा. यूनिटी नाम के रूप में सेंट्रम और BharatPe दोनों के लिए कई मायने में जबरदस्त महत्व है. यह पहली बार है जब दो साझेदार बैंक बनाने के लिए समान रूप से एकजुट हो रहे हैं. बयान में कहा गया है कि सेंट्रम के एमएसएमई और माइक्रो फाइनेंस व्यवसायों को यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक में मिला दिया जाएगा.

सेंट्रम ग्रुप के कार्यकारी अध्यक्ष जसपाल बिंद्रा ने कहा, हम लाइसेंस प्राप्त करने के लिए खुश हैं और एक मजबूत टीम के साथ इस नए युग के बैंक को बनाने के लिए भारतपे के साथ साझेदारी करने के लिए उत्साहित हैं. हम भारत का पहला डिजिटल बैंक बनने की ख्वाहिश रखते हैं.

भारत का पहला सही मायने में डिजिटल बैंक का होगा निर्माण

भारतपे के को-फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर अशनीर ग्रोवर ने कहा, मैं एसएफबी लाइसेंस के साथ भारतपे और सेंट्रम की एकता को सौंपने के लिए आरबीआई को धन्यवाद देना चाहता हूं. हम इस अवसर का लाभ उठाने के लिए अथक और स्मार्ट तरीके से काम करेंगे और भारत का पहला सही मायने में डिजिटल बैंक का निर्माण करेंगे.

सेंट्रम-भारतपे ने इस बैंक का किया अधिग्रहण

आपको बता दें कि सेंट्रम-भारतपे ने संकट ग्रस्त सहकारी बैंक पंजाब एंड महाराष्ट्र कोआपरेटिव बैंक (PMC Bank) का अधिग्रहण किया है. आरबीआई से अधिग्रहण की मंजूरी मिलने के बाद सेंट्रम और डिजिटल भुगतान सेवा प्रदाता स्टार्टअप कंपनी भारतपे इसमें 1,800 करोड़ रुपए लगाने वाली है.

सेंट्रम फाइनेंशियल सर्विसेज ने एक फरवरी, 2021 को पीएमसी बैंक के अधिग्रहक कर लघु बैंक बनाने का प्रस्ताव रखा था. पीएमसी बैंक सितंबर 2019 से रिजर्व बैंक के प्रशासन के तहत काम कर रहा था. इस बैंक में जमाकर्ताओं का 10,723 करोड़ रुपए से अधिक धन अब भी फंसा है. इसी तरह बैंक के कुल 6,500 करोड़ रुपये के कर्ज वसूली में फंसे हैं जिन्हें एनपीए घोषित किया गया है.

फ़ाइनेंशियल प्लानिंग महिलाओं के लिए क्यों जरूरी है और कैसे करें, बता रहे हैं एक्सपर्ट

How and why should women do financial planning

हम सभी को हर दिन फाइनेंस से जुड़े बहुत से फैसले लेने पड़ते हैं। नया फोन कब लेना है, इन्वेस्टमेंट या सेविंग का क्या करना है, कैसे पैसे बचाने हैं वगैरह वगैरह। लेकिन अधिकतर मामलों में हम अपने पैसों को सही तरीके से मैनेज नहीं कर पाते।

ऐसे में बहुत से ऐप्स हमारी मदद कर सकते हैं। ऐसा ही एक ऐप है FIGG जिसके हेड सचिन गुप्ता ने हमें बताया कि क्यों महिलाओं के लिए फ़ाइनेंशियल प्लानिंग जरूरी है। साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि इसके लिए क्या किया जा सकता है।

Financial Planning

Freepik

FIGG ऐप के जरिये पर्सनलाइज्ड फाइनेंसियल एडवाइस आसानी से मिल जाती है। चलिए आपको बताते हैं क्यों महिलाओं के लिए जरूरी है फाइनेंशियल प्लानिंग।

Table of Contents

महिलाओं के लिए फ़ाइनेंशियल प्लानिंग का महत्व

फ़ाइनेंशियल प्लानिंग हम सभी के लिए एक महत्वपूर्ण स्किल है, बेहतर फाइनेंसियल मैनेजमेंट के लिए एक अच्छी फ़ाइनेंशियल प्लानिंग जरूरी है। अपने जीवन स्तर को बनाए रखने और अपनी आर्थिक जरूरतों को लॉन्ग टर्म और शार्ट टर्म में पूरा करते रहने के लिए फ़ाइनेंशियल प्लानिंग ज़रूरी है।

1. रिटायरमेंट के लिए सेविंग करके रखें

Financial planning

Freepik

रिटायरमेंट के बाद के समय में अपने स्वास्थ्य और आवश्यकताओं को मेंटेन रखना महंगा और कठिन काम होता है। युवावस्था में एक इंडिपेंडेंट महिला के रूप में जीवन जीने के लिए पोस्ट-रिटायरमेंट को ठीक से प्लान करना बहुत जरूरी है ताकि आप रिटायरमेंट के बाद भी वही लाइफस्टाइल जी सकें जिसे आप अपने हमेशा से जीने के आदि हैं।

हर महीने बचत करने से घबराना नहीं चाहिए। बचत करना कभी भी ग़लत नहीं हो सकता है। अपने एक्टिव दिनों में अपने कठिन दिनों के लिए बचाकर रखना चाहिए। रिटायरमेंट के बाद के लिए नियमित बचत की राशि को वेतन में वृद्धि आदि होने पर बढ़ाना चाहिए।

रिटायरमेंट के बाद का समय अपनी सेविंग के उपयोग इंटरेस्टिंग चीजों में कर सकते हैं। एक स्ट्रेस-फ्री रिटायरमेंट जीवन जीने के लिए कुछ चीजें ध्यान में रख सकते हैं:-

  • मेडिकल इमरजेंसी: उम्र बढ़ने के साथ स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएं बढ़ जाती हैं। ऐसी स्थितियों से निपटने में आपकी बचत आपके बहुत काम आएगी।
  • मंदी: हमें अपनी फ़ाइनेंशियल प्लानिंग करते हुए अनिश्चित भविष्य और संभावित मंदी का भी ख़याल रखना चाहिए।
  • पारिवारिक सपोर्ट की कमी: आपको अपनी फ़ाइनेंशियल प्लानिंग करते समय एक फैक्टर यह भी लेकर चलना चाहिए कि भविष्य में पारिवारिक सहयोग का मिलना पूरी तरह से निश्चित नहीं है। कुछ बच्चे अपने पेरेंट्स को सपोर्ट नहीं करना चाहते तो कुछ सपोर्ट करने में सक्षम नहीं होते। यह भी हो सकता है कि आप बच्चे नहीं करने का फैसला लें। ऐसी स्थितियों में आपके पास अपना ख़ुद का सिक्योरिटी सिस्टम होना बहुत जरूरी है।
  • सरकारी पेंशन या सहयोग की कमी: अपने स्थानीय स्तर पर सरकारी पेंशन आदि की कमी को भी ध्यान में रख्रते हुए फ़ाइनेंशियल प्लानिंग करना चाहिए। अगर आपकी सरकार रिटायर्ड लोगों के लिए कोई सस्टेनेबल पेंशन प्लान नहीं उपलब्ध कराती है तो यह बहुत जरूरी है कि आप अपने रिटायरमेंट के बाद के लिए प्लानिंग करना शुरू कर दें।

2. पारिवारिक सुरक्षा

Family financial planning

Freepik

एक महिला के रूप में आपके लिए आपके परिवार की आर्थिक सुरक्षा भी एक महत्वपूर्ण पहलू है। इसीलिए आपको अपने और अपने परिवार के सदस्यों के लिए उचित इंश्योरेंस फाइनेंस का महत्त्व पॉलिसी ले लेनी चाहिए। ऐसा करना आपके और आपके परिवार के सदस्यों के मानसिक शांति के लिए आवश्यक हैं। ऐसे अनेक उदाहरण मिल जायेंगे जहां लोग फैमिली सिक्योरिटी लेने के बाद लोगों का जीवन पूरी तरह से बदल गया।

3. इन्वेस्टमेंट विकल्पों पर विचार करें

उचित फ़ाइनेंशियल प्लानिंग रहने से आप अपने सभी रिस्क फैक्टर्स को एड्रेस कर सकते हैं। अपनी व्यक्तिगत जरूरतों और रिस्क टेकिंग क्षमता के हिसाब से आप इन्वेस्टमेंट के विकल्पों पर विचार कर सकते हैं। इन्वेस्टमेंट के ऐसे अनेक विकल्प उपलब्ध हैं जिन्हें आप अपनी जरूरतों के हिसाब से चुन सकते हैं।

4. आर्थिक समझ

Financial understanding

Freepik

क्या आप आर्थिक रूप से पर्याप्त जागरूक और समझदार हैं? अगर आप नहीं हैं तो आप कर्जों में दब सकते हैं। अगर आप पहले से ही कर्जों में दबे हुए हैं तो आप डेट कंसोलिडेशन सर्विस का इस्तेमाल करके अपनी आर्थिक समस्याओं को मैनेज कर सकते हैं।

इन सर्विसेज का उद्देश्य एक लोन लेकर दूसरे लोन को चुकाने के लिए करते हैं। ये सर्विसेज आमतौर पर कम मासिक ब्याज पर दिए जाते हैं। इसका इस्तेमाल उपभोक्ताओं द्वारा क्रेडिट कार्ड लोन, स्टूडेंट लोन आदि चुकाने के लिए किया जाता है।

असल में बेहतर आर्थिक समझ विकसित करना कोई बहुत मुश्किल काम नहीं है। इसे हासिल करने के लिए आपके आर्थिक उद्देश्य निश्चित, परिणामों के प्रति जागरूकता, और निर्णयों की समझ जरूरी है। एक महिला के रूप में फ़ाइनेंशियल प्लानिंग आपको आपके फ़ाइनेंशियल जीवनशैली पर पूरा नियंत्रण और आपके बजट के प्रति आपको नया नज़रिया देगा।

5. इमरजेंसी के दबाव को कम करना

Financial planning

Freepik

ऐसा कहा जाता है कि रोकथाम, इलाज से बेहतर है। इसलिए फाइनेंस का महत्त्व आर्थिक मसलों में इमरजेंसी स्थितियों के लिए तैयार रहना बाद में पछताने से कहीं बेहतर होगा। फ़ाइनेंशियल प्लानिंग आपको अनिश्चित कारणों से निपटने में मदद करेगा। आपका उद्देश्य अपने परिवार को बेहतर फ़ाइनेंशियल सिक्योरिटी प्रदान करना होना चाहिए।

बचत एक बढ़िया विकल्प है। हालांकि बचत करने की बहुत सी वजहें हो सकतीं हैं लेकिन बचत का मुख्य उद्देश्य कठिन दिनों के लिए बचाना होना चाहिए। जीवन में अनिश्चितताएं कभी-कभी आपके जीवन को ट्रैक से उतार सकतीं हैं। इसीलिए इन्वेस्टमेंट के कुछ विकल्प आपके लिए इमरजेंसी के दिनों में बहुत ही कामगर साबित होते हैं।

अगर आप एक स्ट्रेस-फ्री जीवन जीना चाहतीं हैं तो फाइनेंस का महत्त्व एक ठोस फ़ाइनेंशियल प्लानिंग बहुत मददगार विकल्प है। ये आपको आपके लॉन्ग टर्म और शार्ट टर्म दोनों ही उद्देश्यों को हासिल करने में मदद करेगा।

हम उम्मीद फाइनेंस का महत्त्व करते हैं कि ये जानकारी आपके काम आएगी। ऐसी ही स्टोरीज के लिए पढ़ते रहिये idiva हिंदी।

Read iDiva for the latest in Bollywood, fashion looks, beauty and lifestyle news.

कृषि वित्त का महत्व

कृषि वित्त ग्रामीण विकास एवं कृषि संबंधित गतिविधियों से जुड़े कार्यों के सम्पादन से सम्बंधित ऐसी वित्त व्यवस्था है जो उसके आपूर्ति, थोक, वितरण, प्रसंस्करण और विपणन के वित्तपोषण के लिए समर्पित एक विभाग के रूप में जाना जाता है.

किसानों की ऋण आवश्यकताओं को निम्नलिखित तथ्यों ले आधार पर निर्धारित किया जा सकता है:

• उद्देश्य के आधार पर

समय के आधार पर: समय के आधार पर किसानों की ऋण आवश्यकताओं को निम्न रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है:

• लंबे समय तक की अवधि के लिए ऋण

इस तरह के ऋण उर्वरक, बीज, कीटनाशकों और पशुओं के चारे आदि को खरीदने आदि के लिए दिया जाता है. साथ ही मजदूरों की मजदूरी के भुगतान, कृषि उपजों के विपणन एवं उपभोग और अनुत्पादक उद्देश्यों एवं मजदूरी के भुगतान के लिए आवश्यक हैं. इन ऋणों के लिए अवधि 15 महीने से भी कम है.

किसानों की जरूरत एवं उद्देश्य के आधार पर कृषि ऋण को तीन भागों में वर्गीकृत किया जा सकता है:

उत्पादक जरूरतों के सन्दर्भ की बात करें तो कृषि ऋण कृषि उत्पादन को गहरे तक प्रभावित करते हैं. कुछ किसानो की बात करें तो वे आदतन भी खपत के लिए ऋण की जरूरत महसूस करते हैं.. कृषि की बुवाई एवं उसके उपज और बाद में फसल की कटाई और उसके विपणन होने के मध्य इतनी अवधि का समय होता है की किसान अपनी तमाम जरूरतों को पूरा करने में अक्षम होते हैं. अतः वे अपनी तमाम जरूरतों को ही पूरा करने के लिए मजबूरन ऋण लेते हैं. अर्थात यदि कोई किसान ऋण लेता है तो कुछ किसानो को छोड़ दे तो अधिकांश किसानो के ऋण लेने की परंपरा गलत नहीं है.

रेटिंग: 4.33
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 104
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *