ताजा खबरें

ट्रेडर कौन होते है?

ट्रेडर कौन होते है?

Editors Take: एक सफल ट्रेडर बनने के लिए क्या करें? जानिए अनिल सिंघवी से

एक सफल ट्रेडर बनने के लिए क्या करें? नए ट्रेडर्स को क्यों जरूर सीखना चाहिए रिस्क मैनेजमेंट? ओवर नाइट पोजीशन में रिस्क मैनेजमेंट करना कितना अहम? ट्रेडर्स जरूर देखिए अनिल सिंघवी का ये वीडियो.

आपभी शेयर बाजार के बन सकते हैं माहिर खिलाड़ी; ट्रेडिंग के अपनाएं ये 5 नियम, होगी मोटी कमाई

शेयर बाजार के कुछ नियम हैं, जिसे अपनाकर आप भी निवेश के बड़े खिलाड़ी बन सकते हैं.

आपभी शेयर बाजार के बन सकते हैं माहिर खिलाड़ी; ट्रेडिंग के अपनाएं ये 5 नियम, होगी मोटी कमाई

How To Become A Successful Traders Of Stock Market: शेयर बाजार में अगर ट्रेडिंग करना चाहते हैं तो इसमें एंट्री का रास्ता आसान है. वहीं अगर सोच-समझकर और समझदारी से योजना बनाई जाए तो शेयर बाजार में बिना किसी बाधा के एक सुसंगत और स्वतंत्र बिजनेस किया जा सकता है. हालांकि बाजार में ट्रेड वाले सभी के लिए जरूरी है कि उन्हें ट्रेडर और प्रोफेशनल ट्रेडर के बीच के गैप को कम करना चाहिए. अगर आप भी बाजार में प्रभावी रूप से कारोबार करना चाहते हैं तो तीन मुख्य बिंदुओं मसलन एंट्री, एग्जिट और स्टॉप लॉस का बेहद महत्व है. इसके साथ ही आपकी पोजिशन का साइज क्या है, यह भी बेहद अहम है. आपने जो ट्रेड की योजना बनाई है, उसका पालन करने में आप कितने सक्षम हैं और आपके अंतर-संचालन की क्षमता आपको बाजार में प्रभावी तरीके से ट्रेड करने में मदद कर सकती है. जिससे आप अपने पोर्टफोलियो का मैनेजमेंट सफलता से कर सकते हैं. जानते हैं शेयर बाजार के सफल ट्रेडर बनने के लिए किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

शेयर बाजार में ट्रेडिंग एक तरह से बिजनेस है, और बिना सटीक प्लान के कोई भी बिजनेस सफल नहीं हो सकता है. सिर्फ कुछ किताबें पढ़कर ट्रेडिंग में आ जाना, सिर्फ ब्रोकरेज अकाउंट खोलकर और चार्टिंग प्रोग्राम खरीदकर शेयर बाजार में पैसा लगा देने से ही सफलता नहीं मिल सकती. इससे नुकसान का डर ज्यादा होता है.

Post office Whole Life Assurance Plan: पोस्ट ऑफिस के इस प्लान में रोज बचाएं 50 रुपये, मैच्‍योरिटी पर मिलेगा 34 लाख

सटीक ट्रेड प्लान के लिए आपका सही स्ट्रैटेजी पर काम करना जरूरी है. इसके लिए आपको यह तय करना होगा कि आप कितना रिस्क लेने का क्षमता रखते हैं, आपके निवेश का लक्ष्य क्या है, आपका कैपिटल अलोकेशन क्या है, आप शॉर्ट टर्म या लांग टर्म के लिए निवेश करना चाहते हैं. कब किसी निवेश में एंट्री करना है, कब निकलना है और स्टॉप लॉस क्या हो, इन बातों की समझ जरूरी है. इन बातों की समझ नहीं होगी तो आप मुसीबत में आ सकते हैं.

2. ट्रेड को लेकर न रहें कनफ्यूज

जब भी आप ट्रेडिंग का प्लान कर रहे हों, आपका माइंड क्लीयर होना जरूरी है. बाजार में कई बार अफवाहें तेज उड़ती हैं, अगर आपका ध्यान उन पर गया तो प्लान बिगड़ सकता है. इसलिए निगेटिव खबरों को लेकर खुद पर दबाव न बनाएं. अपने निवेश को लेकर इमोशनल न हों. सही निवेश को चुनें और उसमें बिना डर के पैसे लगाएं. दूसरों को डरा हुआ देखकर आप अपने द्वारा बनाए गए निवेश के प्लान से दूर न जाएं. ऐसा करके आप अपना बहुत सा मुनाफा गंवा सकते हैं.

आपके निवेश का आकार क्या है, यह बहुत महत्वपूर्ण है. इससे तय होता है कि आप कितनी क्वांटिटी का शेयर खरीद या बेच सकते हैं. आप कितने कैपिटल के साथ बाजार में सहज हैं, कितना रिस्क ले सकते हैं या उतार चढ़ाव झेल सकते हैं, इससे आपका ट्रेड प्लान सही से बाजार में लागू होता है. एक बार जब आप बाजार में निवेश करते हें, समय समय पर अपने निवेश का आंकलन, अपने पोजिशन साइज का ट्रेडर कौन होते है? रिव्यू और बैलेंस को बनाए रखना समान रूप से जरूरी है.

जब आपका ट्रेड सही दिशा में बढ़ रहा हो, तो कुछ बेहतर स्ट्रैटेजी के साथ काम करना जरूरी हो जाता है. मसलन कब निवेश में कौन सा शेयर बढ़ाना है या कौन सा घटाना है. कहां स्टॉप लॉस लगाकर ट्रेड करना है. इस तरह से आप बाजार के जोखिम को कम कर सकते हैं.

4. सीमित कर सकते हैं अपना नुकसान

शब्द “स्टॉप लॉस” का हाल के दिनों में बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है. यह सही भी है क्योंकि स्टॉप लॉस एक जोखिम की पूर्व-निर्धारित राशि है ट्रेडर कौन होते है? जो एक ट्रेडर हर ट्रेड के साथ सहने को तैयार होता है. यह आपके नुकसान के आकार को सीमित कर देता है. भले ही आपका ट्रेड लीडिंग पोजिशन में हो, स्टॉप लॉस को अनदेखा न करें, नहीं तो आपको ज्यादा नुकसान भी उठना पड़ सकता है.

5. अति-आत्मविश्वास दे सकता है नुकसान

ट्रेडिंग में सफलता आपके आत्मविश्वास को बढ़ाता है, ट्रेडर कौन होते है? लेकिन आत्मविश्वास और अति-आत्मविश्वास के बीच एक अंतर है, जिसे जरूर समझें. अपने ट्रेड प्लान पर टिकें रहें और पहले से बनाई गई योजना के हिसाब से ही शेयर बाजार में चलें. भावनाओं में आकर ट्रेडिंग न करें. मसलन बहुत ज्यादा फायदे की स्थिति में भी बिना सोचे अपना अलोकेशन बढ़ाते जाएं.

Share Market ने पूरे किए सपने, नौकरी छोड़ आधी दुनिया की सैर कर चुकी है ये लड़की

शेयर मार्केट में ट्रेडिंग के बारे में राजर्षिता का कहना है कि यह जुए से कम नहीं है. ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाने के लोभ में लोग सारी कमाई गंवा देते हैं. उन्होंने खुद भी ज्यादा कमाई करने के चक्कर में एफएंडओ ट्रेड (Future & Options) में पैसे गंवाए हैं.

शेयर मार्केट में ट्रेड कर दुनिया की सैर

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 06 जून 2022,
  • (अपडेटेड 06 जून 2022, 12:58 PM IST)
    ट्रेडर कौन होते है?
  • दुनिया घूमने के लिए छोड़ी बैंकर की नौकरी
  • शेयर मार्केट में ट्रेड कर कमाती हैं पैसे

अच्छी-खासी सैलरी वाली बैंकर (Banker) की नौकरी को भला कौन छोड़ना चाहता है. हालांकि दुनिया में ऐसे भी लोग होते हैं, जिनका सपना अलग होता है. कोलकाता (Kolkata) की रहने वाली राजर्षिता सुर (Rajarshita Sur) की कहानी भी ऐसी ही है. राजर्षिता का सपना दुनिया घूमने का था और इस कारण उन्होंने बैंकर की नौकरी की परवाह नहीं की. सुर के सपने को पूरा करने में मददगार बना शेयर मार्केट (Share Market).

ऐसा था राजर्षिता सुर का सपना

राजर्षिता सुर को मुंबई में एक प्राइवेट बैंक के ट्रेजरी डिपार्टमेंट में नौकरी मिली थी. उन्हें नौकरी से कोई खास परेशानी नहीं थी, बस उन्हें जब मन करे तब घूमने निकल जाने की आजादी नहीं थी. वह चाहती थीं कि कोई ऐसा काम हो, जिसमें ऑफिस के घंटों से बंधने की मजबूरी नहीं हो और इतनी कमाई भी होती रहे कि खर्चे का टेंशन नहीं हो. चूंकि वह बैंक में फॉरेक्स ट्रेडिंग (Forex Trading) का काम देख रही थीं, उन्होंने स्टॉक मार्केट में किस्मत आजमाने का फैसला किया.

सम्बंधित ख़बरें

11 रुपये वाला शेयर 86000 के पार, जानिए MRF क्यों है भारत का सबसे महंगा स्टॉक!
कल हो सकती है इस IPO की लिस्टिंग, ग्रे मार्केट में शेयर का धमाल
दिवाली के दिन खुलेगा स्टॉक मार्केट, ये शेयर खरीदना हो सकता शुभ!
Tata Steel, IndusInd के शेयर चढ़े, बाजार ने की ठोस शुरुआत
RIL, HDFC के शेयर हुए धड़ाम. वोलेटाइल ट्रेड में छठे दिन भी गिरा बाजार

सम्बंधित ख़बरें

ऐसे की शेयर मार्केट में शुरुआत

राजर्षिता सुर ने बैंक की नौकरी छोड़ने के बाद इंडीपेंडेंट तरीके से स्टॉक मार्केट में ट्रेड (Stock Market Trading) करने लगीं. शुरुआत में उन्होंने एक कॉरपोरेट फर्म के साथ तीन साल तक प्रॉपरायटरी इक्विटी ट्रेडर के रूप में काम किया. इस नौकरी के साथ-साथ वह अपना ट्रेड भी करती रहीं. धीरे-धीरे राजर्षिता को शेयर मार्केट की चाल समझ आने लगी और उन्होंने ठीक-ठाक फंड भी बना लिया. बस फिर क्या था, उन्होंने ये नौकरी भी छोड़ दी और दुनिया घूमने निकल पड़ीं.

कर चुकीं दुनिया के इन हिस्सों की सैर

आज राजर्षिता सुर की पहचान एक इन्वेस्टमेंट गुरू (Investment Guru) के रूप में बन चुकी है. उन्हें शेयर मार्केट में ट्रेड करते हुए आठ साल हो चुके हैं. राजर्षिता सुर अभी तक ब्रिटेन (Britain), तुर्की (Turkey), दक्षिण पूर्वी एशिया (South East Asia) और लगभग 70 फीसदी यूरोप (Europe) की सैर कर चुकी हैं. अभी-अभी उन्होंने नेपाल (Nepal) का ट्रिप पूरा किया है और अब केन्या (Kenya) व आइसलैंड (Iceland) जाने की तैयारी में हैं. राजर्षिता हर साल विदेश की सैर करने के लिए कम-से-कम 10 लाख रुपये अलग रख दिया करती हैं. उनका कहना है कि वह हर महीने 3-4 फीसदी फायदा कमाने का टारगेट रखती हैं. जैसे ही ये टारगेट अचीव होता है, वह ट्रेडर कौन होते है? ट्रेडिंग बंद कर सैर करने निकल पड़ती हैं.

जुए से कम नहीं है शेयर मार्केट

राजर्षिता के इंस्टाग्राम (Rajarshita Instagram) ट्रेडर कौन होते है? अकाउंट से भी पता चलता है कि उन्हें घूमने का कितना शौक है. उन्होंने इंस्टाग्राम के बायो में ही लिखा हुआ है. फॉरएवर ऑन वैकेशन. इंस्टाग्राम पर उन्होंने देश-विदेश की सैर की दर्जनों तस्वीरें अपलोड की हैं. शेयर मार्केट में ट्रेडिंग के बारे में राजर्षिता का कहना है कि यह जुए से कम नहीं है. ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाने के लोभ में लोग सारी कमाई गंवा देते हैं. उन्होंने खुद भी ज्यादा कमाई करने के चक्कर में एफएंडओ ट्रेड (Future & Options) में पैसे गंवाए हैं. हालांकि अब उन्होंने इस गलती से सीख ले ली है और ट्रेडिंग से ज्यादा लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट (Long Term Investment) पर फोकस करती हैं.

ITR Filing Apps: कौन-कौन से ऐप हैं, जिनसे आसानी से ITR फाइल कर सकते हैं ट्रेडर, जानिए

ये ऐप्स उन लोगों का मुश्किल काम को आसानी में निपटा सकती हैं, जो फ्यूचर्स एंड ऑप्शन्स (F&Os) में काम करते हैं.

ये ऐप्स उन लोगों का मुश्किल काम को आसानी में निपटा सकती ट्रेडर कौन होते है? हैं, जो फ्यूचर्स एंड ऑप्शन्स (F&Os) में काम करते हैं.

ITR Filing Apps: ट्रेडर्स और म्यूचुअल फंड में निवेश करने वाले लोगों के लिए टैक्स फाइल करना आसान काम नहीं है. ये ऐप्स उन . अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated : December 29, 2021, 11:45 IST

नई दिल्ली. ITR Filing Apps: शेयर बाजार में काम करने वाले ट्रेडर्स और म्यूचुअल फंड में निवेश करने वाले लोगों के लिए टैक्स फाइल करना आसान काम नहीं है. उन्हें आइटीआर फाइल करने के लिए लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन (LTCP) की स्क्रिप्ट वाइज रिपोर्ट तैयार करनी पड़ती है. किस शेयर में कितना पैसा कमाया और किस म्यूच्यूअल फंड में कमाई की, ये सब विस्तार से बताना होता है.

लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन (LTCP) के लिए पूरे वित्त वर्ष में की गई ट्रेडिंग में 112ए शेड्यूल के तहत जानकारी भरनी होती है. इसके अवाला जो लोग फ्यूचर्स एंड ऑप्शन्स (futures and options (F&Os)) में काम करते हैं उन्हें तो और भी ज्यादा मुश्किल ITR-3 या ITR-4 में जानकारी देनी होती है. और यकीन कीजिए ऐसा करना आसान काम नहीं है.

ऑटोमेटिकली हो जाएगा काम

हालांकि रजिस्ट्रार और ट्रांसफर एजेंट्स (RTAs) से सभी इक्विटी ट्रांजेक्शन्स के लिए एक कॉन्सॉलिडेटड रिपोर्ट प्राप्त करना आसान है, लेकिन हर स्क्रिप्ट की बिलकुल सही जानकारी भरना कठिन काम होता है. लेकिन, क्या हो अगर आपके ब्रोकर की तरफ सारी जानकारी ITR फॉर्म में ऑटोमेटिकली भर दी जाए तो. कुछ बडे ब्रोकरेज फर्म्स जैसे कि एक्सिस सिक्योरिटीज़ (Axis Securities), ट्रेडर कौन होते है? जेरोधा (Zerodha) और आईआईएफएल सिक्योरिटीज़ (IIFL Securities) ऐसा कर रही हैं. वे न्यू-एज़ ऑनलाइन टैक्स फाइलिंग पोर्टल के साथ पार्टनरशिप में ऐसा कर पा रही हैं.

नए ट्रेडर को होती है परेशानी

एक्सिस सिक्योरिटीज़ (Axis Securities) के प्रॉडक्ट एंड मार्केटिंग हेड वामसी कृष्णा (Vamsi Krishna) का कहना है कि पिछले कुछ समय से बहुत सारे नए लोग ट्रेडिंग की दुनिया में आए हैं. चूंकि उनकी शुरुआत ही है तो वे अच्छे से कैलकुलेट और रिपोर्ट कर पाने में कुशल नहीं है, खासकर F&O की आय या कैपिटल गेन और लॉस. Digitax (एक्सिस सिक्योरिटीज़ का फ्लैगशिप टैक्स फाइलिंग प्रॉडक्ट) लाभ और हानि (Gains or Losses) को अपने आप कैलकुलेट कर लेता है. कैलकुलेट करने के बाद ये रिपोर्ट निकालता है और Quicko के टैक्स फाइलिंग पोर्टल पर अपलोड कर देता है.

कितना है इन ऐप्स का चार्ज

कृष्णा ने कहा, “जिन निवेशकों ने शॉर्ट-टर्म और लॉन्ग-टर्म कैपिटल गेन किया है, उन्हें डिजीटैक्स के साथ टैक्स फाइलिंग के लिए ₹450 का भुगतान करना होगा, जबकि इंट्रा-डे और एफएंडओ ट्रेडर्स के लिए चार्ज ₹899 है.”

आईआईएफएल सिक्योरिटीज (IIFL Securities) में डीमैट खाते ट्रेडर कौन होते है? वाले निवेशकों को यह सुविधा मुफ्त में दे रही है. आईआईएफएल सिक्योरिटीज के चीफ डिजिटल ऑफिसर नंदकिशोर पुरोहित ने कहा, “कई ब्रोकरों के साथ डीमैट खातों वाले उपयोगकर्ताओं को Quicko के पेड प्लान लेने की जरूरत है.”

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

रेटिंग: 4.69
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 633
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *