विदेशी मुद्रा हेजिंग रणनीति

निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें

निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें
(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1 और न ही 2

एडिटोरियल

यह एडिटोरियल 27/11/2022 को ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ में प्रकाशित “निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें The pivotal role of sport in an aspirational India” लेख पर आधारित है। इसमें खेलों के महत्त्व और भारत द्वारा विभिन्न खेलों के संचालन के मॉडल पर पुनर्विचार करने की आवश्यकता के बारे में चर्चा की गई है।

स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का वास होता है। इस बात के प्रमाण बढ़ रहे हैं कि खेल युवाओं में व्यक्तिगत और सामाजिक कौशल के विकास के लिये एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करते हैं। खेल को करियर विकल्प के रूप में देखे जाने की संभावना अन्य पारंपरिक करियर विकल्पों की तुलना में इसकी स्थिति एवं वरीयता के प्रश्न को जन्म देती है।

  • भारत में खेलों को करियर के रूप में अपनाने की राह में सामाजिक-आर्थिक, भाषाई, सांस्कृतिक, आहार संबंधी आदतें, सामाजिक वर्जनाएँ और लैंगिक पूर्वाग्रह जैसी कई बाधाएँ शामिल हैं, जो भारत की युवा महत्वाकांक्षी आबादी के एक बड़े हिस्से को खेल के प्रति अपने उत्साह को बनाए रखने से हतोत्साहित करती हैं।
  • भारत में खेल प्रशासन (Sports Governance in India) को नया रूप देने और खेल संस्कृति के लोकतंत्रीकरण की दिशा में आगे बढ़ने की आवश्यकता है।

भारत में खेल शासन का इतिहास

  • 1950 के दशक की शुरुआत में केंद्र सरकार ने देश निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें में खेलों के गिरते मानकों को समझने के लिये अखिल भारतीय खेल परिषद(All India Council of Sports- AICS) का गठन किया।
  • वर्ष 1982 में एशियाई खेलों (Asian games) के आयोजन बाद खेल विभाग (Department of Sports) को युवा कार्यक्रम और खेल विभाग (Department of Youth Affairs and Sports) में रूपांतरित कर दिया गया।
  • वर्ष 1984 में राष्ट्रीय खेल नीति (National Sports Policy) का निर्माण हुआ।
  • वर्ष 2000 में विभाग को युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय (Ministry of Youth Affairs and Sports- MYAS) में रूपांतरित कर दिया गया।
  • वर्ष 2011 में युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय ने भारतीय राष्ट्रीय खेल विकास संहिता, 2011 (National Sports Development Code of India 2011) को अधिसूचित किया।
  • वर्ष 2022 में नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा एरोबेटिक्स, एरो-मॉडलिंग, बैलूनिंग, ड्रोन, हैंग ग्लाइडिंग और पावर्ड हैंग ग्लाइडिंग, पैराशूटिंग आदि के लिये राष्ट्रीय वायु खेल नीति 2022 (NASP 2022) लॉन्च की गई।

खेल क्षेत्र से संबंधित सरकार की विभिन्न पहलें

  • खेल संस्कृति का लोकतंत्रीकरण: भारत में खेल शासन के लिये एक सुदृढ़ ढाँचे का निर्माण कर भारत की खेल संस्कृति को ज़मीनी स्तर पर पुनर्जीवित करने की आवश्यकता है।
    • भारतीय शिक्षा प्रणाली में खेलों को ऐतिहासिक रूप से पीछे छोड़ दिया गया है। खेलों के प्रति विद्यालयों के दृष्टिकोण में परिवर्तन में भारत में खेल परिदृश्य को नया रूप देने की क्षमता है।
      • ‘फिट इंडिया मूवमेंट’ में कहा गया है कि विद्यालय अपने पाठ्यक्रम में पारंपरिक और क्षेत्रीय खेलों को शामिल कर सकते हैं लेकिन खेल को पाठ्यक्रम का एक अनिवार्य घटक बनाने को अभी और स्पष्ट करने की आवश्यकता है।
      • BCCI पर न्यायमूर्ति लोढ़ा समिति की अनुशंसाओं का विस्तार अन्य सभी खेल निकायों के लिये करना इस दिशा में एक सकारात्मक कदम होगा।

      सौंदर्य, स्वास्थ्य और जीवन शैली विकल्प

      एक मछली पकड़ने की गाड़ी की भूमिका आपको अपने वांछित स्थान पर दिन के लिए आवश्यक मछली पकड़ने के सभी उपकरण ले जाने में मदद करना है। इन इकाइयों में आप मछली पकड़ने का बहुत सारा सामान ले निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें जा सकते हैं, जैसे कूलर, हुक, डंडे आदि। आइए इन इकाइयों के बारे में और जानें

      मछली पकड़ने की गाड़ी के लाभ

      यदि आप एक अच्छे फिशिंग कार्ट में निवेश करते हैं तो नीचे कुछ लाभ दिए गए हैं जिनका आप आनंद ले सकते हैं।

      मत्स्य प्रबंधन:-

      जब आप बाहर हों, तो आपके लिए अपने उपकरणों का प्रबंधन करना मुश्किल हो सकता है क्योंकि यह आपको गतिविधि से विचलित कर सकता है। यदि आपके पास कार्ट है, तो आप बिना किसी समस्या के अपने सभी सामान तक पहुँच सकते हैं। नतीजतन, आप जब तक चाहें मछली पकड़ने का मजा ले सकते हैं।

      चूँकि आपके कार्ट में आपकी ज़रूरत का सारा सामान होगा, इसलिए आपको किसी भी चीज़ निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें की चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। आपको मानसिक शांति मिलेगी कि आपके सभी पद सुरक्षित हैं। इससे आपका काफी समय भी बचेगा, क्योंकि आपको बार-बार अपने उपकरणों के बारे में चिंता नहीं करनी पड़ेगी।

      सीएफपी का कहना है कि 75% युवा, धनी अमेरिकियों को निवेश के बारे में यह ‘गलत’ लगता है

      औसतन, अमेरिकियों की उम्र 21 से 42 के बीच निवेश योग्य संपत्ति में कम से कम $ 3 मिलियन के साथ स्टॉक या स्टॉक फंड में उनकी संपत्ति का केवल 25% है, एक के अनुसार बैंक ऑफ अमेरिका प्राइवेट बैंक का हालिया सर्वेक्षण. हालांकि, धनी निवेशक 43 और उससे ऊपर के शेयरों में अपनी संपत्ति का औसत 55% रखते हैं।

      डिस्कनेक्ट क्यों? हालांकि सलाहकार आम तौर पर सलाह देते हैं कि युवा निवेशक अपने निवेश का अधिकांश हिस्सा शेयरों में रखते हैं, धनी युवा लोगों को संदेह है कि पारंपरिक निवेश काम कर सकते हैं।

      वास्तव में, 4 में से 3 का कहना है कि सर्वेक्षण के अनुसार स्टॉक और बॉन्ड के साथ औसत से अधिक रिटर्न हासिल करना संभव नहीं है।

      नतीजतन, वे अपने पोर्टफोलियो को भरने के लिए रियल एस्टेट, निजी इक्विटी और क्रिप्टोकुरेंसी जैसे वैकल्पिक निवेशों का चयन कर रहे हैं।

      युवा अमीर निवेशक ‘विशेषज्ञता के साथ सफलता की गलती’ कर सकते हैं

      युवा, संपन्न निवेशक शेयरों से दूरी क्यों बना रहे हैं? यह हो सकता है कि बैंक ऑफ अमेरिका प्राइवेट बैंक में निवेश के प्रमुख केन शेपर्ड कहते हैं कि वहां नए, नए विचार हैं।

      युवा लोग “अविश्वसनीय नवाचार की अवधि के दौरान रहते हैं। आधुनिक और नया क्या है और आज गले लगाया जा सकता है, कल जल्दी से त्याग दिया जा सकता है,” वे कहते हैं। “यह पीढ़ी नए विचारों और काम करने के तरीकों को अपनाने की आदी हो गई है।”

      इसके अलावा, वे कहते हैं, निवेशकों की युवा पीढ़ी अब कुछ मामलों में, कई वित्तीय संकटों से गुज़री है। “यह इक्विटी बाजार के निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें लाभों के बारे में थोड़ा और संदेह पैदा करता है।”

      इस बीच, बहुत सारे वैकल्पिक निवेशों ने पिछले कुछ वर्षों में बहुत सारे लोगों को बहुत पैसा कमाया है। लेकिन हाल के रिटर्न पर अपने निवेश विकल्पों को ध्यान में रखते हुए सावधान रहें।

      युवा निवेशकों के लिए स्टॉक अभी भी सबसे अच्छा विकल्प क्यों हैं I

      यहां युवा करोड़पतियों के बहुत सारे निवेशों के बारे में बात की गई है: हर दिन लोगों के पास उन्हें खरीदने के लिए पर्याप्त पैसा नहीं होता है। ब्रैडी कहते हैं, “निजी इक्विटी, हेज फंड, प्रत्यक्ष-स्वामित्व वाली अचल संपत्ति और क्रिप्टो की भौतिक मात्रा जैसी चीजें उदाहरण हैं, और प्रवेश के लिए न्यूनतम निवेश अक्सर निषेधात्मक होते हैं।”

      यहां तक ​​​​कि अगर आपके पास दरवाजे पर आने के लिए पर्याप्त पैसा है, तो यह सुझाव देने के लिए बहुत कम है कि आप बेहतर होंगे। एक बात के लिए, ये निवेश अक्सर उच्च स्तर के जोखिम के साथ आते हैं जो कि रोज़मर्रा के निवेशकों को संभालने के लिए सुसज्जित नहीं हो सकते हैं।

      आपको इससे आगे देखने की जरूरत नहीं है क्रिप्टो बाजार में हालिया उथल-पुथल यह देखने के लिए कि कैसे वैकल्पिक निवेशों पर भाग्य को तेजी से खोया जा सकता है। यहां तक ​​कि स्थिर प्रतीत होने वाली कोई चीज, जैसे कि किराये की संपत्तियों के मालिक होने पर भी, अगर चीजें गलत हो जाती हैं, तो आपके वित्त को नुकसान पहुंच सकता है।

      Post Office RD: मौज ही मौज! अब महज 100 रूपये के न्वेश पर निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें पाएं 16 लाख की रकम, जानें कैसे

      SCSS

      Post Office RD: आज के समय हर किसी के लिए बचत करना बहुत जरूरी है। आप इसके लिए कहीं निवेश कर सकते हैं। वैसे निवेश के लिए पोस्ट ऑफिस की बचत योजनाएं अच्छा ऑप्शन साबित हो सकती हैं। पोस्ट ऑफिस की बचत योजनाएं निवेश करने पर सुरक्षित और अच्छा रिटर्न देती हैं। पोस्ट ऑफिस की कई योजनाओं में पोस्ट ऑफिस RD (Post Office Recurring Deposit) निवेश करने के लिए अच्छा एवं सुरक्षित विकल्प है।

      100 रुपये से कर सकते हैं निवेश की शुरुआत

      पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट अकाउंट में आप महज 100 रुपये के छोटे से अमाउंट से भी निवेश शुरू कर सकते हैं। यह एक स्माल सेविंग स्कीम निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें है आप अपने बजट के हिसाब से इस स्कीम में निवेश कर सकते हैं. इस स्कीम में अकाउंट पांच सालों के लिए खोला जाता है.

      मौजूदा समय में आवर्ती जमा योजना पर 5.8% का ब्याज दिया जा रहा है। यह नई दर 1 अप्रैल 2020 से लागू हैं। जानकारी के लिए बात दें कि सरकार की तरफ से हर तिमाही में अपनी सभी छोटी निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें बचत योजनाओं की ब्याज दरों को तय करती है।

      हर महीने 10 हजार लगाएं तो 16 लाख मिलेंगे

      अगर आप पोस्ट ऑफिस की आरडी स्कीम में 10 साल के लिए हर महीने 10 हजार रूपये निवेश करते हैं तो आपको 10 साल बाद 5.8% की दर से 16 लाख से भी ज्यादा रूपये मिलेंगे।

      ध्यान रखें की अपने RD खाते में समय से पैसा जमा करते रहें, अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको हर महीने जुर्माना भरना पड़ेगा। वहीं अगर आपने निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें लगातार 4 बार किस्तें नहीं जमा की तो आपका खाता बंद कर दिया जाएगा।

      ​Jio, Airtel, Vi यूजर्स के लिए नया नियम, अब 24 घंटे SIM कार्ड रहेंगे बंद

      नवभारत टाइम्स लोगो

      नवभारत टाइम्स 1 दिन पहले

      नई दिल्ली।

      दूरसंचार विभाग की तरफ सभी टेलिकॉम यूजर्स के लिए एक नया नियम जारी किया गया है। अगर आप जियो, एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया और बीएसएनएल-एमटीएनएल यूजर्स हैं, तो आपको नया नियम जान लेना चाहिए। दरअसल दूरसंचार विभाग ( DoT) की तरफ से नया नियम लागू कर दिया है। ऐसे में नया सिम कार्ड 24 एक्टिवेट होने के 24 घंटे तक बंद रहेगा। मतलब सिम एक्टिवेट होने के 24 घंटे तक इनकमिंग, आउटगोइंग और SMS की सुविधा को बंद रखा जाएगा। ऐसा कदम बढ़ते सिम कार्ड फ्रॉड की घटनाओं को देखते हुए लिया गया है। दूरसंचार विभाग की तरफ से नए नियम को लागू करने के लिए सभी टेलिकॉम कंपनियों को 15 दिनो का वक्त दिया गया है।

रेटिंग: 4.30
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 484
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *